हिन्दी कंप्यूटर शिक्षा- शिक्षित ग्रामीण भारत, कम्प्युटरीकृत ग्रामीण भारत

डिस्ट्रिब्यूटेड डाटाबेस

          डिस्ट्रिब्यूटेड डाटाबेस एक सिंगल लॉजिकल डाटबेस है, जो कि डाटा क्मयूनिकेशन लिंक द्वारा कनेक्टेड मल्टीपल लोकेशन्स में कम्प्यूटर्स में एक छोर से दूसरे छोर तक फैला हुआ है। एक डिस्ट्रिब्यूटेड डाटाबेस में प्रत्येक रिमोट साइट पर मल्टीपल डाटाबेस मैनेजमेण्ट सिस्टम को रन करने की आवश्यकता होती है। डिस्ट्रिब्यूटेड डाटाबेस के कई डाटाबेस एन्वायरमेण्ट हैं-
-होमोजिनियस
-हेट्रोजिनियस

डिस्ट्रिब्यूटेड डाटाबेस के लक्ष्य
1.लोकेशन ट्रान्सपेरेन्सी
2.लोकल आटोनॉमी

डिस्ट्रिब्यूटेड डाटाबेस के लाभ
1.अधिक विश्वसनियता और उपलब्धता
2.लोकल कण्ट्रोल
3.मॉड्यूल ग्रोथ
4.लोअर कम्यूनिकेशन कॉस्ट
5.फास्टर रिस्पॉन्स

डिस्ट्रिब्यूटेड डाटाबेस के दोष
1.सॉफ्टवेयर कॉस्ट और जटिलताएँ
2.प्रोसेसिंग ओवरहेड
3.डाटा इन्टीग्रीटी
डिस्ट्रिब्यूटेड डाटाबेस के लिए स्ट्रैटजिस
1.डाटा रिप्लीकेशन
डाटा रिप्लीकेशन का अर्थ है हर दो या अधिक साइट्स पर डाटाबेस की अलग प्रति स्टोर करना।

2.हॉरिजोण्टल पार्टिशनिंग
हॉरिजोण्टल पार्टिशनिंग के साथ टेबल की कुछ रो को एक साइट पर बेस रिलेशन में रखा जाता है और अन्य रो को एक अन्य साइट में बेस रिलेशन में रखा जाता है।

3.वर्टिकल पार्टिशनिंग
वर्टिकल पार्टिशनिंग के साथ टेबल के कुछ कॉलम्स को एक साइट पर बेस रिलेशन में प्रोजेक्ट कर दिया जाता है और अन्य कॉलम्स को एक अन्य साइट में बेस रिलेशन में प्रोजेक्ट कर दिया जाता है। हर साइट में रिलेशन का एक कॉमन डोमेन होना चाहिए, ताकि मूल टेबल को रिकन्सट्रक्ट किया जा सके।

डिस्ट्रिब्यूटेड डाटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम
एक डिस्ट्रिब्यूटेड डाटाबेस के लिए एक डाटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम होना चाहिए, जो विभिन्न नोड्स पर डाटा के एक्सेस को को-ऑर्डिनेट कर सके। ऐसे सिस्टम को डिस्ट्रिब्यूटेड डाटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम(डीडीबीएमएस) कहा जाता है। एक डिस्ट्रिब्यूटेड डाटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम निम्नलिखित कार्य करता है-
1.डिस्ट्रिब्यूटेड डाटा डायरेक्टरी में डाटा कहाँ लोकेट किया गया है, इसकी खबर रखना।
2.यह निशचित करना कि किस लोकेशन से रिक्वेस्टेट डाटा को रिट्रीव करना हैऔर डिस्ट्रिब्यूटेड क्वैरी के हर भाग को किस लोकेशन पर प्रोसेस करना है।
3.सिक्योरिटी, कॉन्करेंसी और डेडलॉक क्वैरी ऑप्टीमाइजेशन और फेलियर रिकवरी जैसे डाटा मेनेजमेंट फंक्शन्स प्रदान करना।
4.रिमोट साइट्स के बीच डाटा की प्रतियों के बीच स्थिरता प्रदान करना।

डिस्ट्रिब्यूटेड डाटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम के कार्य
1.लोकेशन ट्रान्सपेरेन्सी
2.रिप्लीकेशन ट्रान्सपेरेन्सी
3.फेलियर ट्रान्सपेरेन्सी
4.कॉन्करेंसी ट्रान्सपेरेन्सी

Comments on: "60. डिस्ट्रिब्यूटेड डाटाबेस" (1)

  1. imran khan said:

    u r site is beautiful. we want all Oracle notes in hindi language..pls sir send me info on my E-mail id of oracle books in hindi.{k_imran887@ymail.com}

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s